Neha Health

6/recent/ticker-posts

Government issued guidelines for those coming to India by international flight, these conditions will have to be accepted

Government issued guidelines for those coming to India by international flight, these conditions will have to be accepted



सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ान से भारत आने वालों के लिए जारी की गाइडलाइन्स, माननी होगी ये शर्तें
  Government issued guidelines for those coming to India by international flight, these conditions will have to be accepted


सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ान से भारत आने वालों के लिए जारी की गाइडलाइन्स, माननी होगी ये शर्तें 

केंद्र द्वारा जारी की गई गाइडलाइन्स में अंतरराष्ट्रीय यात्रा के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा नियम और यात्रा ख़त्म होने के बाद के जरूरी निर्देश दिए गए हैं। ये नई गाइडलाइन्स 8 अगस्त से लागू होंगी।


कोरोना संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए देशभर में मार्च के आखिरी में लॉकडाउन लगाया गया था जिसे अब धीरे-धीरे 'अनलॉक' की प्रक्रिया द्वारा हटाया जा रहा है। अनलॉक के पहले और दूसरे चरण में  Covid-19 कंटेनमेंट जोन के अलावा बाकी जगहों पर सामजिक गतिविधियों को छूट मिली थी लेकिन अंतरराष्ट्रीय यात्राओं को बंद ही रखा गया था। हालांकि, 1 अगस्त को गृह मंत्रालय ने अनलॉक 3 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी की थी जिसके अनुसार अब अंतरराष्ट्रीय यात्राएं भी शुरू कर दी जाएंगी। हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं गृह कल्याण मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय विमानों के जरिए दूसरे देशों से भारत आने वाले यात्रियों के लिए नए गाइडलाइन्स जारी किए हैं। केंद्र द्वारा जारी की गई गाइडलाइन्स में अंतरराष्ट्रीय यात्रा के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा नियम और यात्रा ख़त्म होने के बाद के जरूरी निर्देश दिए गए हैं। ये नई गाइडलाइन्स 8 अगस्त से लागू होंगी। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि अंतरराष्ट्रीय  यात्रा के दौरान आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना होगा - 


Government issued guidelines for those coming to India by international flight, these conditions will have to be accepted
Government issued guidelines for those coming to India by international flight, these conditions will have to be accepted


आगमन से पहले -(prior to arrival

सभी यात्रियों को एक 'Dos and Don'ts' लिस्ट दी जाएगी जिसमें लिखा होगा की क्या करें और क्या ना करें।


यात्रियों को अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा। 


चेकिंग के दौरान सिर्फ उन यात्रियों को अनुमति दी जाएगी जिनमें कोरोना के लक्षण ना दिखें। 


एयरपोर्ट पर सुरक्षा और बचाव के नियमों  जैसे सोशल डिस्टैन्सिंग आदि  का पालन करना होगा। 


यात्रा के दौरान -(During the journey

जिन यात्रियों ने ऑनलाइन स्व-घोषणा पत्र जमा नहीं किया हो उन्हें एयरपोर्ट/ सीपोर्ट /लैंडपोर्ट पर पहुँचने से पहले एक डुप्लीकेट स्व-घोषणा पत्र  भरना होगा। 


एयरपोर्ट पर COVID-19 से जुड़ी जानकारी और बचाव के तरीकों की अनाउंसमेंट की जाएगी। 


यात्रा के समय सुरक्षा नियमों का पालन करना होगा। 


यात्रा से पहले -(Before the trip) 

जो यात्री संस्थागत क्वारंटीन से छूट पाकर घर पर ही होम आइसोलेशन की अनुमति चाहते हैं उन्हें यात्रा से कम से कम 72 घंटे पहले ऑनलाइन अप्लाई करना होगा। 


होम क्वारंटीन की अनुमति के लिए यात्री को आगमन पर आरटी-पीसीआर की निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट जमा करवानी होगी। 


सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देशों के मुताबिक ये टेस्ट यात्रा शुरू होने से 96 घंटे के अंदर का होना चाहिए।


यात्रियों को अपनी टेस्ट रिपोर्ट ऑनलाइन जमा करनी होगी या वे आगमन पर एयरपोर्ट के एंट्री पॉइंट पर भी अपनी टेस्ट रिपोर्ट दिखा सकते हैं। 


यात्रा समाप्त होने पर -(At the end of the journey) 

डीबोर्डिंग के समय सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करें। 


एयरपोर्ट हेल्थ स्टाफ को ऑनलाइन भरा हुआ ऑनलाइन स्व-घोषणा पत्र दिखाएं। 


थर्मल स्क्रीनिंग के दौरान जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण पाए जाएंगे उन्हें तुरंत आइसोलेशन के लिए कोविड केयर सेंटर भेज दिया जाएगा। यात्रियों को कम से कम 7 दिनों के लिए क्वारंटीन सेंटर में रहना होगा। 


थर्मल स्क्रीनिंग के बाद जिन यात्रियों को होम आइसोलेशन की अनुमति दी जाएगी उन्हें अपने स्टेट काउंटर पर होम आइसोलेशन के लिए एप्लीकेशन देनी होगी। 


भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) पोर्टल पर जारी किए गए निर्देशों के अनुसार मेडिकल टेस्ट करवाने के बाद -


जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण नहीं होंगे या बहुत हलके (वेरी माइल्ड ) लक्षण/ शुरूआती लक्षण दिखेंगे उन्हें स्तिथि के मुताबिक होम आइसोलेशन या कोविड केयर सेंटर में आइसोलेशन के लिए भेजा जायेगा। 


जिन यात्रियों में हल्के/ माध्यम/ गंभीर (mild/moderate/severe) लक्षण पाए जायेंगे उन्हें कोविड सेंटर भेजा जायेगा। कोविड सेंटर में भर्ती होने के बाद रिपोर्ट निगेटिव आने पर घर पर ही 7 दिनों तक सेल्फ-आइसोलेशन में रहना होगा और खुद ही अपने स्वास्थ्य का निरीक्षण करना होगा। 


Post a Comment

0 Comments