Neha Health

6/recent/ticker-posts

Now dialysis will be done in medical college itself

Now dialysis will be done in medical college itself


अब मेडिकल कॉलेज में ही होगी डायलिसिसNow dialysis will be done in medical college itself


बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से आई मशीन - गुर्दे के मरीजों के कोरोना संक्रमित होने को लेकर उठाया गया कदम चित्र - 21 बीआरएच 2...

प्रदीप तिवारी, बहराइच : तराईवासियों के लिए राहत भरी खबर है। अब गुर्दे की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को डायलिसिस में लखनऊ की दौड़-भाग और न ही आर्थिक तंगी आड़े आएगी। अब उन्हें मेडिकल कॉलेज में ही यह सुविधा निश्शुल्क मिलेगी। बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर की ओर से डायलिसिस मशीन उपलब्ध कराई गई है। माह के अंत तक डायलिसिस की सेवाएं शुरू हो जाएंगी। हालांकि अभी इसका लाभ कोरोना संक्रमित मरीजों को ही मिलेगा।

जिले में वर्ष 2016 से ही डायलिसिस यूनिट स्थापना के लिए कवायद शुरू हो गई थी। शासन की ओर से यूनिट स्थापना को 2018 में मंजूरी दी थी, लेकिन जिला अस्पताल के मेडिकल कॉलेज में समायोजित हो जाने के बाद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा की ओर से हाथ खींच लिया गया। इसके बाद डायलिसिस यूनिट की प्रक्रिया अधर में लटक गई। अब जब वैश्विक महामारी ने पांव पसारा है तो गुर्दे की बीमारी से जूझ रहे मरीजों के कोरोना संक्रमित होने पर जिदगी बचाने के लिए सरकार संजीदा हुई है। जिले में गुर्दे के मरीजों की बढ़ रही तादाद व चपेट में आने को देखते हुए गोरखपुर से डायलिसिस मशीन उपलब्ध कराई गई है। यह मशीन डेडिकेटेड वार्ड के दूसरे तल पर स्थापित की जा रही है। प्रभारी डॉ.ओपी पांडेय ने बताया कि अभी इसका लाभ कोरोना संक्रमितों को मिलेगा। भविष्य में गुर्दे की बीमारी से जूझ रहे अन्य मरीजों को भी सुविधा मिलेगी।

Now dialysis will be done in medical college itself
Now dialysis will be done in medical college itself


चार चिकित्सक समेत 12 कर्मी को प्रशिक्षणTraining of 12 personnel including four doctors


डायलिसिस यूनिट के सफल संचालन के लिए मेडिकल कॉलेज के डॉ.सौरभ शुक्ल, डॉ.अनूप, डॉ.प्रमोद, डॉ.अमित श्रीवास्तव के अलावा चार स्टाफ नर्स, चार टेक्नीशियन को पांच दिवसीय प्रशिक्षण के लिए केजीएमयू लखनऊ भेजा गया है। ट्रेनिंग के बाद से डायलिसिस की सुविधा शुरू हो जाएगी।


जिला अस्पताल में डायलिसिस की सुविधा नहीं थी। अब मशीन आ गई है। दूसरी मशीन भी आने वाली है। कोरोना संक्रमित गुर्दा के मरीजों को इसकी सुविधा दी जाएगी।

-डॉ.डीके सिंह, सीएमएस जिला अस्पताल

Post a Comment

0 Comments