Neha Health

6/recent/ticker-posts

Collector brought injured to hospital, watched action

Collector brought injured to hospital, watched action

घायल को अस्पताल लेकर पहुंचे कलेक्टर, बदइंतजामी देख लिया एक्शनCollector brought injured to hospital, watched action


यूपी के पीलीभीत जिले में जब एक कलेक्टर ने सड़क पर तड़पते घायल को देखा तो एंबुलेंस बुलवाकर तत्काल कम्युनिटी हेल्थ सेंटर भेजा लेकिन वहां के हालात देखकर वह आगबबूला हो गए. घायल बाइक सवार भी हेलमेट नहीं पहने था. इस पर कलेक्टर साहब ने धड़ाधड़ एक्शन लिए और बाइक, कार वालों के साथ बिना मास्क के साइकिल से घूम रहे लोगों को भी थाने में भरवा दिया.
जिला अधिकारी वैभव श्रीवास्तव लगातर लॉकडाउन में अपने किये गए कामों से सुर्खियों में है. मंगलवार सुबह अपने दल बल के साथ नेशनल हाइवे 730 पर भ्रमण के दौरान सड़क हादसे में घायल बाइक सवार मिला जिसे बिना हेलमेट वाहन चलाने के कारण चोट लगी थी.


दरअसल, कलेक्टर अपने दौरे पर हाइवे से पीलीभीत आ रहे थे. उसी समय एक बाइक सवार घायल अवस्था में सड़क पर पड़ा मिला. उसके सिर पर गम्भीर चोट थी. घायल को देख कर जिला अधिकारी उसको लेकर कम्युनिटी हेल्थ सेंटर (सीएचसी) पूरनपुर में आ गए लेकिन यहां का नज़ारा तो कुछ और ही था. सीएचसी पूरनपुर में कोई था ही नहीं. घायल एम्बुलेंस में तड़पता रहा.

जिला अधिकारी ने उसे खुद उतरवा कर इमरजेंसी में भिजवाया और एक फार्मासिस्ट और एक आयुर्वेदिक डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार कर घायल को जिला अस्पताल रेफर कर दिया. जिला अधिकारी ख़ुद उसको एम्बुलेंस में लाद कर अपने काफिले के साथ जिला अस्पताल ले आए.
उस बीच जिला अधिकारी सीएचसी से पैदल चल कर थाने पहुंच गए. पूरी घटना से पूरी तरह बिफर चुके जिला अधिकारी का गुस्सा बिना हेलमेट वालों और बिना मास्क वालों पर फूटा क्योंकि अगर घायल हेलमेट लगाए होता तो चोट नहीं आती.

जिला अधिकारी ने लोगों को पकड़-पकड़ कर थाने के अंदर भेजा. साइकिल सवार, बाइक सवार, कार सवार सभी को पकड़ कर थाने में भेजने लगे. देखते देखते पूरा थाना भर गया. मौके पर सभी क्षेत्रीय अधिकारी मूकदर्शक बन कर देखते रहे. जिला अधिकारी ने अपने दफ्तर आकर सीएचसी पर ताबड़तोड़ कार्रवाई कर दी, सबसे पहले सीएचसी प्रभारी को हटा दिया और बाकी सभी का वेतन काटने और स्पष्टीकरण का आदेश दे दिया.

by TaboolaSponsored LinksYou May Like
GST सुविधा केंद्र. आज GST सुविधा केंद्र खोलकर हर महीने 25000 से 100000 के बीच कमाएं। पेशेवर सहायता और प्रशिक्षण के साथ मासिक आय का अवसर। हमारे बैकएंड कार्यालय की सहायता से, आप अपने ग्राहकों को GST सेवाएँ, लेखा सेवाएँ, कर सेवाएँ, आयकर सेवाएँ, कंपनी से संबंधित सेवाएँ और अन्य सभी व्यावसायिक सेवाएँ प्रदान करेंगे। आज आप आवेदन कर सकते हैं।

कलेक्टर वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि बाइक सवार और कार में टक्कर हुई. हेलमेट न होने से वह गम्भीर रूप से घायल हो गया. उसकी हालत नाजुक है उसको बरेली भेज दिया गया. फिर वहीं थाने के बाहर अभियान चलाते हुए बिना मास्क और बिना हेलमेट वालों पर कार्रवाई की गई. हेल्थ सेंटर की हालत बहुत खराब थी जिस पर कार्रवाई की गई.

Post a Comment

0 Comments